Ekta Kranti News

Best News Network Mandi Adampur

Ekta Kranti News

आदमपुर नागरीक अस्पताल को कोविड सेंटर बनाने लेकर को जनसेवा समिति ने उपायुक्त को भेजा ज्ञापन

आदमपुर नागरीक अस्पताल को कोविड सेंटर बनाने लेकर को जनसेवा समिति ने उपायुक्त को भेजा ज्ञापन
-विधायक कुलदीप बिश्नोई ने भी नागरीक अस्पताल को कोविड सेंटर बनाने की मांग

मंडी आदमपुर सिटी

आदमपुर कस्बे में बडते कोरोना के केसो व आक्सीजन की आ रही कमी को लेकर आदमपुर की समाजसेवी संस्था जनसेवा समिति ने आदमपुर नागरीक अस्पताल को कोविड सेंटर बनाने व आदमपुर का आक्सीजन कोटा निर्धारित करने को लेकर आदमपुर के तहसीलदार के माध्यम से जिला उपायुक्त को ज्ञापन भेजा हैं।

नायब तहसीलदार रविंद्र शर्मा को दिए गए ज्ञापन में जनसेवा समिति के सदस्यों ने बताया कि मंडी आदमपुर व आस-पास के गांवों में हर रोज कोरोना के केस बढ रहे हैं।

जिसके कारण कस्बे हालात काफी खराब होते जा रहे हैं।

हिसार में मरीजो को ना तो अस्पताल में जगह मिल रही और ना प्रयाप्त मात्रा में आक्सीजन जिसके कारण कई लोग अपनी जान गवा चूके हैं।

वहीं आदमपुर के नागरीक अस्पताल में 60 बैड का सरकारी अस्पताल हैं

इस अस्पताल को कोविड सेंटर बनाया जाए और इसके साथ ही आदमपुर के लिए आक्सीजन का कोटा भी निर्धारित किया जाए ताकि कोरोना के मरीजों को समय पर आक्सीजन की सुविधा मिल सके औश्र उनकी जान बचाई जा सके।

समिति के सदस्यों ने बताया कि वे प्रशासन की इस कार्य के लिए हर संभव मदद के लिए तैयार हैं।

समिति के सदस्यों ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को भी एक पत्र लिखकर आदमपुर नागरीक अस्पताल को कोविड सेंटर बनाने की मांग की हैं।

ताकि यहा के मरीजों को हिसार ना जाना पड़े और आर्थिक रूप से भी उनका बचाव हो सके।

वहीं केन्द्रीय कांग्रेस कार्यसमिति सदस्य एवं आदमपुर से विधायक कुलदीप बिश्नोई ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि आदमपुर सिविल अस्पताल में कोविड सैंटर स्थापित करके यहां पर पर्याप्त ऑक्सीजन तथा वैंटिलेटर मुहैया करवाए जाएं,

ताकि कोरोना मरीजों की जान बचाई जा सके। कुलदीप बिश्नोई ने कहा कि आदमपुर सिविल अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए किसी भी तरह की सुविधाएं मौजूद नहीं है।

यहां न तो ऑक्सीजन बैड हैं, ना वैंटिलेटर है और न अन्य जरूरी उपकरण, जिससे आदमपुरवासियों को कोरोना के इलाज के लिए अग्रोहा मैडिकल, हिसार सहित अन्य जगहों के अस्पतालों में चक्कर काटने पड़ रहे हैं।

आदमपुर तथा आसपास के क्षेत्र में कोरोना संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है।

पिछले वर्ष जब कोरोना महामारी ने लोगों को अपनी चपेट में लिया था सरकार से आग्रह किया गया था कि आदमपुर के सामान्य अस्पताल में आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाए।

कई बार अधिकारियों को पत्राचार के माध्यम से तथा विधानसभा में वे आदमपुर सामान्य अस्पताल में चिकित्सा सुविधाओं के अभाव को लेकर आवाज उठा चुके हैं और अधिकारियों को कई बार इस बारे में चेताया गया कि परंतु राज्य सरकार की कोरोना संकट से निपटने की तैयारी उसी प्रकार से थी,

जिस प्रकार से केन्द्र सरकार ने लापरवाही दिखाई। उन्होनें कहा कि अबर सरकार कोरोना की दूसरी लहर के बारे में विशेषज्ञों की टिप्पणियों को गंभीरता से लेकर आवश्यक कदम उठाए जाते,

परंतु ऐसा कुछ नहीं किया गया, जिस वजह से आज हिसार, हरियाणा सहित पूरे देश में कोरोना महामारी महासंकट बनकर लौटी है।

न अस्पतालों में बैड है, न ऑक्सीजन है, न वैंटिलेटर है और न ही पर्याप्त डॉक्टर। सरकारी लापरवाही की वजह से बड़ी संख्या में लोग अपनी जान गंवा रहे हैं।

Comment here

error: Content is protected !!