AdampurFATEHABADHaryana newshisar

इंसान के सबसे बेहतर और सच्चे दोस्त के तौर पर जानवर को माना जाता है। ये इंसान के ऐसे सहमत दोस्त होते हैं

इंसान के सबसे बेहतर और सच्चे दोस्त के तौर पर जानवर को माना जाता है। ये इंसान के ऐसे सहमत दोस्त होते हैं जो न कभी सवाल पूछते और न ही कभी आलोचना करते हैं। आज के जमाने में जहां इंसान दूसरे इंसान का बैरी है वहीं विनोद लटियाल वीलडीए इन बेसहारा जीवों की जिंदगी बेहतर बनाने की समाज में अलख जगा रहे हैं। आपको अपने आसपास ऐसे कई जानवर घूमते मिल जाएंगे जो जख्मी होते हैं या किसी बीमारी से वो तड़प रहे होते हैं। उनके दिल में इन पशुओं के लिए टीस उभरी तो उन्होंने इनकी संभाल का बीड़ा उठाते हुए उपचार उपलब्ध कराना शुरू किया। ऐसे ही सड़कों, गलियों में घूमते लावारिस पीड़ित पशुओं को फिर से स्वस्थ करने को अपनी जिंदगी का मिशन बना चुके समाजसेवी की कहानी हम आपके साथ साझा कर रहे हैं ताकि अन्य को भी इस मिशन में खुद को साबित करने को आगे आए।विनोद लटियाल समाजसेवी वीलडीए हैं 2015 से निःशुल्क और समाज के लोगों के सहयोग से सेवा उपचार करते हैं समाजिक क्षेत्र में कई सम्मान भी प्राप्त कर चुके हैं विज्ञान भवन नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नृतत्व में सम्मान प्राप्त कर चुके हैं विनोद लटियाल मोर, नीलगाय,कुत्ते,बिल्ली, गाय अन्य बेसहारा जीवों का उपचार कर चुके हैं और हर दिन उपचार कर रहें हैं इनकी कोई संस्था नही जहाँ से शुल्क प्राप्त हो सके अपने खर्चे पर उपचार करते हैं आदमपुर के क्षेत्र में कहि भी जीवों की सेवा का मौका मिले तो तैयार रहते हैं

Comment here